Sunday, March 20, 2011

भर जोबन में नाव दुब्गी


भर जोबन में नाव डूबगी - 2 तैरा दे मनिहारा
तेरे नाम की दो चूड़ी - मने पेरा दे मनिहारा , पेरा दे मनिहारा

भर जोबन में नाव डूबगी तैरा दे मनिहारा
तेरे नाम की दो चूड़ी मने पेरा दे मनिहारा , पेरा दे मनिहारा

पटरी - रेल चालत हैं - ऊपर जहाज हवाई
फागन में तो छोरा मर गया - कर कर याद लुगाई -

पटरी - रेल चालत हैं ऊपर जहाज हवाई
फागन में तो छोरा मर गया, कर कर याद लुगाई -

नीम का जोबन नीम निमोड़ी - आम का जोबन चुआन
मर्द का जोबन पण सुपारी - पनिहारी का कुआँ -

नीम का जोबन नीम निमोड़ी आम का जोबन चुआन
मर्द का जोबन पण सुपारी पनिहारी का कुआँ -

आधी रात में आयो देवर - , लायो फूल गुलाबी
झाला देर बुलवान लाग्यो - , आजा मेरी भाभी -

आधी रात में आयो देवर , लायो फूल गुलाबी
झाला देर बुलवान लाग्यो , आजा मेरी भाभी -

सुन रे पति मेरा सुन रे पति - , तने हाल बताऊँ सारा
देवरिय को ब्याव करा दे - , वोह ना फिरे कंवारा -

सुन रे पति मेरा सुन रे पति , तने हाल बताऊँ सारा
देवरिय को ब्याव करा दे , वोह ना फिरे कंवारा -






Saturday, March 19, 2011

Holi Khelan Aaya Madan Murari


होली खेलन धूम मचावन , आयो यशोमती लालो
आयो प्रेम की होली लेके , मोहन मुरली वालो


होली खेलन आयो - मदन मुरारी , फागन रंग बरस रह्यो
कान्हो मारे भर भर पिचकारी , आज रंग बरस रह्यो

खेले श्याम संग - , होली राधा प्यारी, आज रंग बरस रह्यो
कान्हो मारे भर भर पिचकारी , आज रंग बरस रह्यो

ग्वाल बाल की टोली लेके आयो किशन कनाहियो - 2
नाचे धमाल मस्त बंसी जो बजैयो -
देखो श्याम सलोनो कान्हो, होली खेलन आयो है
हो संग में ग्वाल हाथ पिचकारी, लाल गुलाल भी लायो हैं
सखियाँ संग लेके - ,आई राधा प्यारी , राधा रो मन हरस रह्यो
खेली श्याम संग होली राधा रानी, फागन रंग बरस रह्यो

राधाजी के मुख पर कान्हो रंग गुलाल लगायो हैं -2
लाल गुलाबी राधा देख कर कान्हा के मन भावे हैं -
कान्हो लागे श्यामल श्यामल, राधा गोरी गोरी
हो गोकुल वासी टेक राधा और कन्हे की जोड़ी
राधेश्याम की - जोड़ी लागे प्यारी आज रंग बरस रह्यो
खेली श्याम संग होली राधा रानी, फागन रंग बरस रह्यो

कान्हो दौड़े आगे आगे पीछे गोपियाँ सारी -2
एक बार तो सुना दो मोहन मुरली की धुन प्यारी -
राधा संग करी सखियाँ ने, झुण्ड बनके आईए
अरे सुनु श्याम से मीठी बंसी, भाग ना जाए कन्हाई
वोह तो सुध बुध - भूल गयी सारी , जो ब्रज धुन छेद गयो
खेली श्याम संग होली राधा रानी, फागन रंग बरस रह्यो

मतवालों कन्हुड़ो म्हारो रंग रसियो बिहारी -
रंग डाल्यों राधा ऊपर भीगी चुनर सारी -
उड़े गुलाल आज अम्बर में रंग री उड़े फुहारी
राधा के संग होली खेले देखो कृष्ण मुरारी
राधा बराज बराज के - हारी, मोहन नहीं मान रह्यो
खेली श्याम संग होली राधा रानी, फागन रंग बरस रह्यो

राधा संग सपना में मोहन अद्भुत रूप दिखावे
प्रेम रंग री होली माहि प्रेम रंग बरसावे -
जोड़ी राधे श्याम की, मेरे चित को छु गया
ओह इस जोड़ी के दर्शन करके , मेरा जीवन सफल हुआ
थारी लीला -3 अजब बनवारी , म्हारो तो खिल भाग गयो
खेली श्याम संग होली राधा रानी, फागन रंग बरस रह्यो




Sunday, February 28, 2010

Ghumerdaar Lanjo

घुमेरदार लेन्जो

बाबीला लेता आइजो जी घुमेरदार लेन्जो
आलीजा लेता आइजो जी घुमेरदार लेन्जो
घुमेरदार लेन्जो, घुमेरदार लेन्जो - २
बाबीला लेता आइजो जी, आलीजा लेता आइजो जी घुमेरदार लेन्जो
अन्न दाता लेता आइजो जी घुमेरदार लेन्जो

म्हारे माथां ने मेमद लाइजो और रखडी रतन जराईजो - २
बाबीला लेता आइजो जी, आलीजा लेता आइजो जी घुमेरदार लेन्जो
अन्न दाता लेता आइजो जी घुमेरदार लेन्जो
बाबीला लेता आइजो जी घुमेरदार लेन्जो

म्हारी बैयाँ ने चुडलो लाइजो , म्हारी रखडी रतन जराईजो - २
बाबीला लेता आइजो जी, आलीजा लेता आइजो जी घुमेरदार लेन्जो
अन्न दाता लेता आइजो जी घुमेरदार लेन्जो
बाबीला लेता आइजो जी घुमेरदार लेन्जो

म्हारी पग में पायल लाइजो , म्हारी बिछिया रतन जराईजो - २
बाबीला लेता आइजो जी, आलीजा लेता आइजो जी घुमेरदार लेन्जो
अन्न दाता लेता आइजो जी घुमेरदार लेन्जो
बाबीला लेता आइजो जी घुमेरदार लेन्जो

थे जयपुर शहर में जैजो, जयपुर से चुनड लाइजो - २
बाबीला लेता आइजो जी, आलीजा लेता आइजो जी घुमेरदार लेन्जो
अन्न दाता लेता आइजो जी घुमेरदार लेन्जो
बाबीला लेता आइजो जी घुमेरदार लेन्जो

घुमेरदार लेन्जो, घुमेरदार लेन्जो - २
बाबीला लेता आइजो जी, आलीजा लेता आइजो जी घुमेरदार लेन्जो
अन्न दाता लेता आइजो जी घुमेरदार लेन्जो









Saturday, February 27, 2010

Mishri Ko Baag

मिश्री को बाग़

मिश्री को...
मिश्री को बाग़ लगादे रसिया
नीम की निमोड़ी म्हाने खारी लागे
मिश्री को बाग़ लगादे रसिया
नीम की निमोड़ी म्हाने खारी लागे
खारी लागे रे म्हाने खारी लागे
नीम की निमोड़ी म्हाने खारी लागे
मिश्री को बाग़ लगादे रसिया
नीम की निमोड़ी म्हाने खारी लागे - २

ओ जी ओ ... ओ जी ओ ..
रंग रंगीला म्हारा साहेब थे तो - २
थाकि सावली... थाकि सावली सूरत मतवाली लागे
नीम की निमोड़ी म्हाने खारी लागे
थाकि सावली... थाकि सावली सूरत मतवाली लागे
नीम की निमोड़ी म्हाने खारी लागे
मिश्री को बाग़ लगादे रसिया
नीम की निमोड़ी म्हाने खारी लागे - २

ओ जी ओ ... ओ जी ओ ..
सामने पड़ोसन देखो सुर्मो घारे
ठुमका करती छम छम चाले
बातो फुटेरी सी, बातो फुटेरी सी म्हाने एक झारी लागे
उजेड़ी सी म्हाने एक क्यारी लागे
बातो फुटेरी सी म्हाने एक झारी लागे
उजेड़ी सी म्हाने एक क्यारी लागे
मिश्री को बाग़ लगादे रसिया
नीम की निमोड़ी म्हाने खारी लागे - २

ओ जी ओ ... ओ जी ओ ..
थे भी तो बिने लुक छिप झांको
खिड़की खोलो झुक झुक झांको
म्हाने सावली , म्हाने सावली पड़ोसन कामंगारी लागे
नीम की निमोड़ी म्हाने खारी लागे
म्हाने सावली पड़ोसन कामंगारी लागे
नीम की निमोड़ी म्हाने खारी लागे
मिश्री को बाग़ लगादे रसिया
नीम की निमोड़ी म्हाने खारी लागे - २

में तो इब थाने लागूं हु पुरानी
रिसी बातया मत कर सुनले रानी
तू तो म्हाने , तू तो म्हाने रूप की ढ्हिरानी लागे
प्यारी प्यारी म्हाने गृहरानी लागे
तू तो म्हाने रूप की ढ्हिरानी लागे
प्यारी प्यारी म्हाने गृहरानी लागे
मिश्री को बाग़ लगास्या हिरिये
नीम की निमोड़ी थाने खारी लागे - २
मिश्री को बाग़ लगादे रसिया
नीम की निमोड़ी म्हाने खारी लागे - २

Friday, February 26, 2010

Tara ri chunadi

तारा री चुनरी

म:
बाई सा रा बीरा जयपुर जाजो जी - २
आ साथे लाजो तारा री चुनरी - २
पु:
सुन्दर गोरी बात बताओ जी - २
कसिक ल्यावान तारा री चुनरी - २
म:
बाई सारा बीरा हरा हरा पल्ला जी - २
कसुमर रंग की तारा री चुनरी - २
पु:
म्हारी मृगानैनी और बताओ जी - २
कसिक सोवे तारा री चुनरी - २
म:
बाई सारा बीरा ननद हठेली जी - २
ओढ़न नहीं दे तारा री चुनरी - २
पु:
म्हारी चंदा बदानी, ओढ बताओ जी -२
महेला में लास्या जाली री चुनडी - २

म:
बाई सा रा बीरा जयपुर जाजो जी - २
आ साथे लाजो तारा री चुनरी - २
महेला में लास्या जाली री.. चुनडी

Ghadlo Thaam le

घडलो थाम ले

घडलो थाम ले ,
घडलो थाम ले देवरिया कमर बलखाये
नीम की निमोड़ी म्हारे अंग अड़ जाए
घडलो सार ले देवरिया कमर बलखाये
नीम की निमोड़ी म्हारे अंग अड़ जाए
अंग अड़ जाए देवरिया घडलो पद जाए
नीम की डाली से म्हारी जोवन अड़ जाए - २

में तने बरजू रे देवर लांबी मत ना लाइजे -२
कोई आवे रे , कोई आवे रंग महला में खूटों सो गढ़ जाए,
नीम की निमोड़ी म्हारे अंग अड़ जाए
घडलो सार ले देवरिया कमर बलखाये
नीम की डाली से म्हारी जोवन अड़ जाए
देवारियों उतारे तो देवरानी नट जाए
नीम की डाली से म्हारी जोवन अड़ जाए - २

में तने बरजू रे देवर मोटी मत ना लाइजे -२
कोई आवे रे , कोई आवे रंग महला में गिंडी सी गुड जाए,
नीम की निमोड़ी म्हारे अंग अड़ जाए
घडलो सार ले देवरिया कमर बलखाये
नीम की डाली से म्हारी जोवन अड़ जाए
देवारियों उतारे तो देवरानी नट जाए
नीम की डाली से म्हारी जोवन अड़ जाए - २


में तने बरजू रे देवर काली मत ना लाइजे -२
कोई आवे रे , कोई आवे रंग महला में अंधियारों होई जाए,
नीम की डाली से म्हारी जोवन अड़ जाए
घडलो सार ले देवरिया कमरियो बलखाये
नीम की डाली से म्हारी जोवन अड़ जाए
देवरानी उतारे तो देवरियो जल जाए
नीम की डाली से म्हारी जोवन अड़ जाए - २

में तने कहहु रे देवर गोरी गोरी लाइजे -२
कोई आवे रे , कोई आवे रंग महला में दिवलो सो जुट जाए,
नीम की डाली से म्हारी जोवन अड़ जाए
घडलो सार ले देवरिया कमरियो बलखाये
नीम की डाली से म्हारी जोवन अड़ जाए
देवरानी उतारे तो देवरियो जल जाए
नीम की निमोड़ी म्हारे अंग अड़ जाए
नीम की डाली से म्हारी जोवन अड़ जाए
नीम की निमोड़ी म्हारे अंग अड़ जाए
नीम की डाली से म्हारी जोवन अड़ जाए

Kesar ki Kyari

केसर की क्यारी

पु:
केसर की क्यारी देखो या छोरी मतवाली राज - २
मिसर मिलावे हस बतलावे, छोरी कमानगारी राज - २

म:
रंग रंगीलो चेल छबीलो यो छोरो नखरालो राज - २
लड़की देखे मन ललचावे यो छोरो मतवालों राज - २

म:
जब देखे भोले बतलावे , तीखे नैना बाण चलावे - २
कर इशारा पास बुलावे , न करूँ पर मन ललचावे
जरा नहीं मन में शर्मावे म्हाने रंग लगावे राज
भिगो साड़ी भीगे चोली, लाजे मर मर जाऊं राज - २
पु:
केसर की क्यारी देखो या छोरी मतवाली राज - २
मिसर मिलावे हस बतलावे, छोरी कमानगारी राज - २

पु:
इ छोरी को रूप निरालो , फगुनिये में लागे प्यारो - २
रंग भरी पिचकारी मारो, पुरो बदन भिगादो सारो
गोरा गाल गुलाबी करदो, या बचने ना पावे आज
ठुमका करती कमर लचीली , म्हारो जीव जलावे राज - २

म:
सुरतिये में छम छम भावे यो रसियो मतवालों राज -२
छोरी देख्यां मन ललचावे , छोरो कमंवालो राज - २

पु:
चंदा को सो उजालो मुखड़ो घुघट में शर्मावे राज
हिरनी की सी चंचल आँखा, रूप की नखराली राज
यो योवन को घडयो खजानों , किस्मत वालों लूटे राज - २

म:
रंग रंगीलो चेल छबीलो यो छोरो नखरालो राज - २
छोरी देख्यां मन ललचावे , यो छोरो कामन्वालो राज - २

पु:
केसर की क्यारी देखो या छोरी मतवाली राज - २
मिसर मिलावे हस बतलावे, छोरी कमानगारी राज- २

मिसर मिलावे हस बतलावे, छोरी कमानगारी राज - २
छोरी देखे मन ललचावे , यो छोरो कामन्वालो राज - २

मिसर मिलावे हस बतलावे, छोरी कमानगारी राज- २
छोरी देखे मन ललचावे , यो छोरो कामन्वालो राज - २